ब्लड प्रेशर कम करने के लिए 21 सर्वश्रेष्ठ व्यायाम| High BP Yoga

5/5 - (2 votes)

नमस्कार दोस्तों! आज के इस विशेष ब्लॉग में, हम बात करेंगे ब्लड प्रेशर को कम करने के लिए 21 सर्वश्रेष्ठ (High BP Yoga) व्यायाम के बारे में। आजकल के तेजी से बढ़ते और तनाव के कारण, ब्लड प्रेशर आम समस्या बन गया है जिससे लोग आधिकारिक दवाइयों के लिए भाग दौड़ रहे हैं। हमारे द्वारा प्रस्तुत किए गए यह 21 व्यायाम आपको ब्लड प्रेशर को संतुलित रखने में मदद करेंगे और स्वस्थ जीवनशैली का साथ देंगे।

Table of Contents

उच्च रक्तचाप के कारण

यहां हम उच्च रक्तचाप होने के कुछ प्रमुख कारणों के बारे में बात करेंगे:

अनुपयुक्त खानपान

खाने-पीने में अनुपयुक्त तत्वों का सेवन उच्च रक्तचाप का मुख्य कारण है। अधिक मात्रा में नमक और तली हुई चीजें, तला हुआ और तले हुए चिप्स, प्रोसेस्ड फूड, और मिठाई खाने से रक्तचाप बढ़ सकता है।

शारीरिक निष्क्रियता

अनियमित या कम शारीरिक गतिविधियों के कारण भी उच्च रक्तचाप हो सकता है। व्यायाम की कमी से रक्तचाप बढ़ सकता है और इससे शारीरिक समस्याएं उत्पन्न हो सकती हैं।

मानसिक तनाव

मानसिक तनाव भी उच्च रक्तचाप का कारण बन सकता है। लंबे समय तक तनाव और चिंता में रहना रक्तचाप को बढ़ा सकता है और इससे दिल समस्याएं हो सकती हैं।

उच्च रक्तचाप के लक्षण

यहां हम उच्च रक्तचाप के कुछ मुख्य लक्षणों के बारे में चर्चा करेंगे:

सिरदर्द

यह एक आम लक्षण है जो उच्च रक्तचाप के साथ हो सकता है। अधिक दबाव के कारण रक्त वाहिकाओं में दरारें हो सकती हैं जो सिरदर्द का कारण बनती हैं।

नज़रों में ब्लर

अधिक रक्तचाप से आंखों की रक्त वाहिकाओं में दरारें हो सकती हैं जिससे नज़रों में ब्लर हो सकता है।

व्यायाम 1: ध्वजासन (Dhanurasana)

ध्वजासन एक शीर्षक व्यायाम है जो ब्लड प्रेशर को संतुलित करने में मदद करता है। इसे करने के लिए नीचे दिए गए चरणों का पालन करें:

  1. सबसे पहले पीठ पर लेट जाएँ। पांव को समतल पर रखें और हाथों को शरीर के साथ संरेखित करें।
  2. अब पेट को अंत तक ऊपर उठाएं और ऊँची रेखा बनाएं, जिससे आपकी छाती भी ऊपर की ओर उठेगी।
  3. श्वास को धीरे से छोड़ें और इस स्थिति में 20-30 सेकंड तक रहें।
  4. फिर धीरे से पेट को नीचे लाएं और आराम से श्वास छोड़ें।

व्यायाम 2: पश्चिमोत्तानासन (Paschimottanasana)

पश्चिमोत्तानासन एक अच्छा व्यायाम है जो ब्लड प्रेशर को संतुलित करने में मदद करता है और पेट की चर्बी को घटाने में सहायक होता है। इसे करने के लिए निम्नलिखित चरणों का पालन करें:

  1. सीधे आसन में बैठें और दोनों पैरों को आगे बढ़ाएँ। पैरों के बीच तना हुआ हाथी की तरह रखें।
  2. श्वास छोड़ते हुए उपर उठें और अपने आगे की ओर झुकें, अपने पैरों को पकड़ें।
  3. धीरे से पूर्ण स्थिति में आएं और 20-30 सेकंड तक रुकें।
  4. धीरे से उठें और साँस छोड़ें।

व्यायाम 3: अर्धमत्स्येन्द्रासन (Ardhamatsyendrasana)

अर्धमत्स्येन्द्रासन एक आसान व्यायाम है जो ब्लड प्रेशर को कम करने में मदद करता है। इसे करने के लिए निम्नलिखित चरणों का पालन करें:

  1. सीधे आसन में बैठें और दोनों पैरों को बाएं ओर मोड़ें।
  2. दाईं हाथ को पीठ के पीछे रखें और दाएं पैर को बाएं पैर के सामने रखें।
  3. अब बाईं हाथ को दाएं ओर मोड़ें और दाहिने पैर को बाएं पैर के ऊपर रखें।
  4. धीरे से ध्यान रखते हुए अब पूर्ण स्थिति में आएं और 20-30 सेकंड तक रुकें।
  5. धीरे से वापस आराम से श्वास छोड़ें।

व्यायाम 4: शवासन (Shavasana)

शवासन एक शीर्षक व्यायाम है जो तनाव को कम करने और ब्लड प्रेशर को संतुलित करने में मदद करता है। इसे करने के लिए निम्नलिखित चरणों का पालन करें:

  1. एक योग मैट पर लेट जाएँ और आंखें बंद करें।
  2. पूरी तन और मस्तिष्क को शांत करें और ध्यान केंद्रित करें।
  3. धीरे से अपने श्वास को नियंत्रित करें और समान अवधि तक विश्राम करें।
  4. शवासन में आसन रखने से 10-15 मिनट तक रहें और तनाव को दूर करें।

व्यायाम 5: भ्रमरी प्राणायाम (Bhramari Pranayama)

भ्रमरी प्राणायाम एक प्राणायाम है जो ब्लड प्रेशर को कम करने में मदद करता है और मानसिक तनाव को दूर करता है। इसे करने के लिए निम्नलिखित चरणों का पालन करें:

  1. सुकासन में बैठें और आंखें बंद करें।
  2. अपने दोनों कानों को अपने दोनों अंगूठों से बंधें, ऐसा करने से आपको प्राणवायु का नियंत्रण होगा।
  3. अब अपने आंखें, नाक, और मुंह को बंद करें और माथे पर धीरे से दबाव बनाएं।
  4. अपने मुख से भ्रमरी की तरह मधुर शब्दों में हम बोलें।
  5. इसे 5-10 मिनट तक जारी रखें और फिर धीरे से आराम से श्वास छोड़ें।

व्यायाम 6: उत्तानासन (Uttanasana)

उत्तानासन एक अच्छा व्यायाम है जो ब्लड प्रेशर को संतुलित करने में मदद करता है और पीठ की मांसपेशियों को मजबूत बनाता है। इसे करने के लिए निम्नलिखित चरणों का पालन करें:

  1. खड़े हों और दोनों पैरों को आसमान की ओर ऊँचा करें।
  2. श्वास छोड़ते हुए ऊपर की ओर झुकें और हाथों को पैरों के समीप लाएं।
  3. किसी भी तनाव को छोड़ें और पूर्ण स्थिति में 20-30 सेकंड तक रुकें।
  4. धीरे से ध्यान रखते हुए वापस आराम से श्वास छोड़ें।

व्यायाम 7: अनुलोम-विलोम प्राणायाम (Anulom-Vilom Pranayama)

अनुलोम-विलोम प्राणायाम एक प्राणायाम है जो ब्लड प्रेशर को कम करने में मदद करता है और दिमाग को शांत करता है। इसे करने के लिए निम्नलिखित चरणों का पालन करें:

  1. सुकासन में बैठें और आंखें बंद करें।
  2. नासिका के नथुने को दाएं हाथ की उंगली से बंद करें और बाईं हाथ के चारों उंगलियों से धीरे से श्वास को बाहर छोड़ें।
  3. अब बाएं हाथ की उंगली से नासिका के नथुने को बंद करें और दाएं हाथ के चारों उंगलियों से धीरे से श्वास को अंदर छोड़ें।
  4. इसे 5-10 मिनट तक जारी रखें और फिर धीरे से आराम से श्वास छोड़ें।

व्यायाम 8: भुजंगासन (Bhujangasana)

भुजंगासन एक अच्छा व्यायाम है जो ब्लड प्रेशर को संतुलित करने में मदद करता है और पीठ की मांसपेशियों को मजबूत बनाता है। इसे करने के लिए निम्नलिखित चरणों का पालन करें:

  1. पेट के बल लेट जाएँ और अपने हाथों को सीधे करें, हथेलियों को नीचे रखें।
  2. अब अपने श्वास को धीरे से छोड़ें और धीरे से ऊपर उठें, जिससे आपकी पीठ भूमि से ऊपर उठ जाएगी।
  3. हाथों को अपने सीने के नीचे रखें और धीरे से 20-30 सेकंड तक रुकें।
  4. धीरे से उठें और साँस छोड़ें।

व्यायाम 9: अर्धाचक्रासन (Ardhachakrasana)

अर्धाचक्रासन एक आसान व्यायाम है जो ब्लड प्रेशर को संतुलित करने में मदद करता है और पीठ की मांसपेशियों को मजबूत बनाता है। इसे करने के लिए निम्नलिखित चरणों का पालन करें:

  1. समतल जमीन पर खड़े हों और दोनों हाथों को ऊपर उठाएं।
  2. हाथों को पीछे की ओर मोड़ें और उत्तेजना से पीठ को घुमाएं, जिससे आपकी छाती भी पीछे की ओर झुकेगी।
  3. धीरे से पूर्ण स्थिति में आएं और 20-30 सेकंड तक रुकें।
  4. धीरे से उठें और साँस छोड़ें।

व्यायाम 10: त्रिकोणासन (Trikonasana)

त्रिकोणासन एक शीर्षक व्यायाम है जो ब्लड प्रेशर को संतुलित करने में मदद करता है और पीठ की मांसपेशियों को मजबूत बनाता है। इसे करने के लिए निम्नलिखित चरणों का पालन करें:

  1. खड़े हों और दोनों पैरों को आसमान की ओर ऊँचा करें।
  2. हाथों को नीचे जमीन पर लाएं और बाएं पैर को बाएं हाथ के साथ स्पर्श करें।
  3. श्वास छोड़ते हुए उपर की ओर झुकें और दाहिने पैर को बाएं पैर के साथ स्पर्श करें।
  4. धीरे से ध्यान रखते हुए पूर्ण स्थिति में आएं और 20-30 सेकंड तक रुकें।
  5. धीरे से उठें और साँस छोड़ें।

व्यायाम 11: सेतुबंधासन (Setu Bandhasana)

सेतुबंधासन एक अच्छा व्यायाम है जो ब्लड प्रेशर को संतुलित करने में मदद करता है और पीठ की मांसपेशियों को मजबूत बनाता है। इसे करने के लिए निम्नलिखित चरणों का पालन करें:

  • पीठ पर लेट जाएँ और दोनों पैरों को समतल पर रखें।
  • अपने पैरों के पास हाथों को रखें और हाथ के सामने छाती बनाएं।
  • धीरे से पूर्ण स्थिति में आएं और 20-30 सेकंड तक रुकें।
  • धीरे से उठें और साँस छोड़ें।

व्यायाम 12: वज्रासन (Vajrasana)

वज्रासन एक शीर्षक व्यायाम है जो ब्लड प्रेशर को संतुलित करने में मदद करता है। इसे करने के लिए निम्नलिखित चरणों का पालन करें:

  1. पैदल बैठें और दोनों पैरों को पीठ के साथ जकड़ें।
  2. धीरे से पूर्ण स्थिति में आएं और 20-30 सेकंड तक रुकें।
  3. धीरे से उठें और साँस छोड़ें।

व्यायाम 13: वीरभद्रासन (Virabhadrasana)

वीरभद्रासन एक अच्छा व्यायाम है जो ब्लड प्रेशर को संतुलित करने में मदद करता है और पीठ की मांसपेशियों को मजबूत बनाता है। इसे करने के लिए निम्नलिखित चरणों का पालन करें:

  1. खड़े हों और दोनों पैरों को आसमान की ओर ऊँचा करें।
  2. दाएं हाथ को दाएं ओर मोड़ें और दाएं पैर को बाएं पैर के साथ स्पर्श करें।
  3. श्वास छोड़ते हुए उपर की ओर झुकें और बाएं हाथ को बाएं ओर मोड़ें और बाएं पैर को बाएं पैर के साथ स्पर्श करें।
  4. धीरे से पूर्ण स्थिति में आएं और 20-30 सेकंड तक रुकें।
  5. धीरे से उठें और साँस छोड़ें।

व्यायाम 14: पवनमुक्तासन (Pawanmuktasana)

पवनमुक्तासन एक शीर्षक व्यायाम है जो ब्लड प्रेशर को संतुलित करने में मदद करता है। इसे करने के लिए निम्नलिखित चरणों का पालन करें:

  1. पीठ पर लेट जाएँ और दोनों पैरों को समतल पर रखें।
  2. हाथों को पैदल जकड़ें और घुटनों को छाती पर धकेलें।
  3. धीरे से एक-एक पैर को छाती के पास लाएं और गुटनी को खींचें।
  4. धीरे से धीरे से उठें और साँस छोड़ें।

व्यायाम 15: शीतली प्राणायाम (Sheetali Pranayama)

शीतली प्राणायाम एक प्राणायाम है जो ब्लड प्रेशर को संतुलित करने में मदद करता है और मानसिक तनाव को दूर करता है। इसे करने के लिए निम्नलिखित चरणों का पालन करें:

  1. सुकासन में बैठें और आंखें बंद करें।
  2. जीभ को नाक के बाहर निकालें और उसे रोल करें।
  3. धीरे से श्वास छोड़ें और शीतली शब्द के साथ श्वास अंदर ले आएं।
  4. धीरे से साँस छोड़ें।

व्यायाम 16: शिशुवासन (Shishuasana)

शिशुवासन एक अच्छा व्यायाम है जो ब्लड प्रेशर को संतुलित करने में मदद करता है और मानसिक तनाव को दूर करता है। इसे करने के लिए निम्नलिखित चरणों का पालन करें:

  1. पीठ पर बैठें और दोनों पैरों को पीठ के साथ जकड़ें।
  2. हाथों को सीधे रखें और आंखें बंद करें।
  3. धीरे से श्वास छोड़ें और शीशुवासन बनाएं।
  4. धीरे से साँस छोड़ें।

व्यायाम 17: नाड़ी शोधन प्राणायाम (Nadi Shodhan Pranayama)

नाड़ी शोधन प्राणायाम एक प्राणायाम है जो ब्लड प्रेशर को संतुलित करने में मदद करता है और मानसिक तनाव को दूर करता है। इसे करने के लिए निम्नलिखित चरणों का पालन करें:

  1. सुकासन में बैठें और आंखें बंद करें।
  2. अपने दाहिने नाक से वायु को अंदर लें और बाएं नाक से श्वास छोड़ें।
  3. धीरे से साँस छोड़ें।
  4. फिर से दाहिने नाक से श्वास छोड़ें और बाएं नाक से वायु को बाहर छोड़ें।
  5. धीरे से साँस छोड़ें।

व्यायाम 18: शवासन (Shavasana)

शवासन एक शीर्षक व्यायाम है जो ब्लड प्रेशर को संतुलित करने में मदद करता है और मानसिक तनाव को दूर करता है। इसे करने के लिए निम्नलिखित चरणों का पालन करें:

  1. पीठ पर लेट जाएँ और दोनों पैरों को समतल पर रखें।
  2. आंखें बंद करें और हाथों को सीधे रखें।
  3. धीरे से साँस छोड़ें और शवासन बनाएं।
  4. धीरे से साँस छोड़ें।

व्यायाम 19: भार्मरी प्राणायाम (Bhramari Pranayama)

भार्मरी प्राणायाम एक प्राणायाम है जो ब्लड प्रेशर को संतुलित करने में मदद करता है और मानसिक तनाव को दूर करता है। इसे करने के लिए निम्नलिखित चरणों का पालन करें:

  1. सुकासन में बैठें और आंखें बंद करें।
  2. अपने दाहिने नाक से वायु को अंदर लें और श्वास छोड़ें।
  3. धीरे से साँस छोड़ें।
  4. फिर से दाहिने नाक से श्वास छोड़ें और श्वास के साथ “भौं” शब्द को कहें।
  5. धीरे से साँस छोड़ें।

व्यायाम 20: बालासन (Balasana)

बालासन एक अच्छा व्यायाम है जो ब्लड प्रेशर को संतुलित करने में मदद करता है। इसे करने के लिए निम्नलिखित चरणों का पालन करें:

  1. पीठ पर बैठें और दोनों पैरों को आसमान की ओर ऊँचा करें।
  2. हाथों को आसमान की ओर फैलाएं और धीरे से झुकें जिससे पीठ भूमि से ऊपर उठ जाएगी।
  3. हाथों को आराम से पूर्ण स्थिति में रखें और 20-30 सेकंड तक रुकें।
  4. धीरे से उठें और साँस छोड़ें।

व्यायाम 21: उत्तानासन (Uttanasana)

उत्तानासन एक शीर्षक व्यायाम है जो ब्लड प्रेशर को संतुलित करने में मदद करता है। इसे करने के लिए निम्नलिखित चरणों का पालन करें:

  1. खड़े हों और दोनों पैरों को समतल पर रखें।
  2. हाथों को ऊपर उठाएं और धीरे से झुकें जिससे पीठ भूमि से ऊपर उठ जाएगी।
  3. हाथों को आराम से पूर्ण स्थिति में रखें और 20-30 सेकंड तक रुकें।
  4. धीरे से उठें और साँस छोड़ें।

निष्कर्ष (Conclusion): High BP Yoga

ब्लड प्रेशर को संतुलित रखना आपके स्वास्थ्य और वेलनेस के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। उपरोक्त व्यायाम विधियों को नियमित रूप से करने से आप अपने ब्लड प्रेशर को संतुलित रख सकते हैं और स्वस्थ जीवन जी सकते हैं। ध्यान रखें कि ब्लड प्रेशर कम करने के लिए व्यायाम के साथ साथ नियमित और संतुलित आहार भी अत्यंत महत्वपूर्ण है। अब आप जानते हैं कि कौन से व्यायाम आपके लिए सबसे फायदेमंद हैं, तो आइए आरंभ करें और स्वस्थ्य जीवन का आनंद उठाएं।

इन्हें भी देखें 👉👉👉 स्वस्थ रहने के 21 आसान टिप्स: आपकी तरक्की का कुंजीHIV/AIDS के कारण, लक्षण, इलाज और घरेलू उपचारसर के बाल झड़ना कैसे रोकेशरीर को गोरा, सुन्दर और आकर्षक बनाएँपिंपल्स: कारण, लक्षण, इलाज और घरेलू उपचार

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल (FAQs):

ब्लड प्रेशर कम करने के लिए व्यायाम कितनी बार करना चाहिए?

उत्तर: ब्लड प्रेशर को संतुलित रखने के लिए, दैनिक रूप से कम से कम 30 मिनट तक व्यायाम करना फायदेमंद होता है। यदि आप ऊर्जित और स्वस्थ रहना चाहते हैं, तो प्रतिदिन इस समय को बढ़ा सकते हैं।

क्या व्यायाम करने से पहले भोजन करना चाहिए?

उत्तर: व्यायाम करने से पहले भोजन करना अधिक खराब हो सकता है, क्योंकि भोजन के बाद खून पेट में ज्यादा रहता है और व्यायाम के दौरान इसे पर्याप्त ऑक्सीजन और पोषक तत्वों के साथ संचयित नहीं किया जा सकता है। व्यायाम से कम से कम 1 घंटे पहले या व्यायाम के 30 मिनट बाद के भोजन का सेवन करना उचित है।

ब्लड प्रेशर को संतुलित रखने के लिए दैनिक रूप से कौन से व्यायाम करने चाहिए?

उत्तर: ब्लड प्रेशर को संतुलित रखने के लिए आराम से चलने, ध्यान करने, प्राणायाम करने, योग अभ्यास करने, और उच्च नमक और तेल वाले भोजन से बचने जैसे व्यायाम फायदेमंद होते हैं। व्यायाम को नियमित रूप से करने से ब्लड प्रेशर कम होने की संभावना बढ़ती है।

क्या ब्लड प्रेशर कम करने के लिए योग उपयुक्त है?

उत्तर: हां, योग ब्लड प्रेशर को संतुलित करने के लिए उपयुक्त है। योगाभ्यास करने से शरीर का तापमान बढ़ता है और दिल के संवाहक तंत्र को सक्रिय रखने में मदद मिलती है, जिससे ब्लड प्रेशर संतुलित रहता है।

क्या व्यायाम करने से ब्लड प्रेशर बढ़ सकता है?

उत्तर: ब्लड प्रेशर नॉर्मल होने के बाद व्यायाम करने से आम तौर पर ब्लड प्रेशर बढ़ता नहीं है। लेकिन ब्लड प्रेशर अनियंत्रित होने की स्थ उत्तर: ब्लड प्रेशर शरीर के धमनियों में खून के दबाव को मापने वाली एक इकाई है। यह दो अंगों के बीच दबाव को निर्दिष्ट करता है जैसे कि ह्रदय के द्वारा खून को पंप करने के लिए और धमनियों के माध्यम से खून को शरीर के अन्य भागों तक पहुंचाने के लिए।

ब्लड प्रेशर को नियमित अंतराल पर कैसे चेक करें?

उत्तर: ब्लड प्रेशर को नियमित अंतराल पर चेक करने के लिए आप ब्लड प्रेशर मीटर का उपयोग कर सकते हैं। इसे आप अपने घर पर आसानी से उपयोग कर सकते हैं। ध्यान दें कि ब्लड प्रेशर को चेक करने से पहले कुछ मामूली बातों का ध्यान रखें जैसे कि यातायात, भोजन या साने के बाद करना अधिक उचित होता है।

ब्लड प्रेशर के उच्च और निम्न स्तर को कैसे समझें?

उत्तर: सामान्यतया, उच्च ब्लड प्रेशर को 140/90 मिमी ऑफ मर्क्युरी से अधिक और निम्न ब्लड प्रेशर को 90/60 मिमी ऑफ मर्क्युरी से कम माना जाता है। यदि आपका ब्लड प्रेशर इन सीमाओं के बीच है, तो आपको इसे नियंत्रित करने की आवश्यकता हो सकती है।

High BP Yoga

High BP YogaHigh BP YogaHigh BP YogaHigh BP YogaHigh BP YogaHigh BP YogaHigh BP YogaHigh BP YogaHigh BP YogaHigh BP YogaHigh BP YogaHigh BP YogaHigh BP YogaHigh BP YogaHigh BP YogaHigh BP YogaHigh BP YogaHigh BP YogaHigh BP YogaHigh BP YogaHigh BP YogaHigh BP YogaHigh BP YogaHigh BP YogaHigh BP YogaHigh BP Yoga

10 thoughts on “ब्लड प्रेशर कम करने के लिए 21 सर्वश्रेष्ठ व्यायाम| High BP Yoga”

Leave a comment