डायबिटीज के मरीजों के लिए 5 योगासन: इंसुलिन की नहीं पड़ेगी जरूरत|Best yoga poses for Diabetes

Rate this post

Best yoga poses for Diabetes: डायबिटीज के मरीजों के लिए योग का महत्वपूर्ण स्थान है, खासकर जब इंसुलिन की जरूरत को कम करने का मामूला तरीका ढूंढ़ा जा रहा है। योग न केवल शारीरिक स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद करता है, बल्कि इंसुलिन सेंसिटिविटी को बढ़ाता है और डायबिटीज के प्रबंधन में सहारा प्रदान करता है। इस ब्लॉग में, हम जानेंगे कुछ ऐसे योगासनों के बारे में जो डायबिटीज के मरीजों के लिए लाभकारी हो सकते हैं।

Table of Contents

1. व्रक्षासन (ट्री पोज़)

व्रक्षासन एक बहुत शांत योगासन है जो शरीर को स्थिरता देता है और पैरों, जांघों, और कमर की मांसपेशियों को मजबूत करने में मदद करता है। यह आंतरिक अंगों की मांसपेशियों को सक्रिय करके इंसुलिन की सही सेंसिटिविटी प्रदान कर सकता है।

व्रक्षासन (ट्री पोज़):

  • स्थिति: सीधे खड़े रहें और हाथों को ऊपर उठाएं।
  • पैरों को धरते हुए एक पैर को दूसरे पैर पर रखें।
  • सांस को धीरे से लेते हुए ऊपर की ओर बढ़ें और हाथों को पेड़ की तरह उच्च करें।
  • 20-30 सेकंड के लिए इस स्थिति में बने रहें और धीरे से बाहर आएं।

2. भुजंगासन (सर्पासन)

भुजंगासन से पेट की मांसपेशियों को स्तरित किया जा सकता है, जिससे डायबिटीज के मरीजों की रक्त शर्करा स्तर को नियंत्रित करने में मदद हो सकती है।

भुजंगासन (सर्पासन):

  • स्थिति: पेट के बल लेटें और होंठों को ऊपर उठाएं।
  • हाथों को कंधों के समीप रखें और पैट को फ्लोर पर धरें।
  • सांस को धीरे से लेते हुए उच्च की ओर बढ़ें ताकि सीधे होंठों को ऊपर उठा सकें।
  • 15-20 सेकंड के लिए इस स्थिति में रहें और धीरे से बाहर आएं।

3. पश्चिमोत्तानासन (फॉरवर्ड बेंड)

इस आसन से पेट की चर्बी को कम किया जा सकता है और मेटाबोलिज्म को बढ़ावा मिलता है, जिससे इंसुलिन की अधिक सेंसिटिविटी हो सकती है।

पश्चिमोत्तानासन (फॉरवर्ड बेंड):

  • स्थिति: बैठें और पैरों को आगे की ओर फैलाएं।
  • पैरों की पंजी या टोंगे को पकड़ें और सर को आगे की ओर झुकाएं।
  • 20-30 सेकंड तक इस स्थिति में रहें और धीरे से बाहर आएं।

4. धनुरासन (बोट पोज़)

धनुरासन डायबिटीज के मरीजों के लिए पैंथ की कमी को दूर कर सकता है और रक्त शर्करा को नियंत्रित करने में सहायक हो सकता है।

धनुरासन (बोट पोज़):

  • स्थिति: पेट के बल पर लेटें और पैरों को पीछे की ओर उठाएं।
  • हाथों को पीछे की ओर बढ़ाएं और पैरों की टोंगों को पकड़ें।
  • सांस को धीरे से लेते हुए शरीर को आगे की ओर झुकाएं ताकि धनुरासन की तरह दिखें।
  • 15-20 सेकंड तक इस स्थिति में रहें और धीरे से बाहर आएं।

5. कपालभाति प्राणायाम Best yoga poses for Diabetes

कपालभाति प्राणायाम से श्वासमार्ग को स्वच्छ करने में मदद होती है और रक्त शर्करा को नियंत्रित करने में सहारा प्रदान कर सकती है।

कपालभाति प्राणायाम:

  • स्थिति: बैठें और सीधे रखें।
  • ध्यान रखें कि सांस बाहर छोड़ने की बजाय, अंतर में धरें।
  • पेट को अंदर और बाहर की ओर तेजी से आगे-पीछे करें।
  • प्रति मिनट में 30 से 60 बार कपालभाति का अभ्यास करें।

इन योगासनों को नियमित रूप से अपनी रोज़ाना की रूटी में शामिल करके डायबिटीज के मरीज अपनी सेहत को सुरक्षित रख सकते हैं। हमेशा ध्यान रखें कि किसी भी नए योग अभ्यास की शुरुआत से पहले अपने डॉक्टर से सलाह लें।

FAQs

1. योग का अभ्यास कितने बार करें?

रोजाना के तौर पर 30 मिनट से 1 घंटे तक का समय निकालकर योग का अभ्यास करना सुझावित है।

2. क्या योग से डायबिटीज कम हो सकती है?

हाँ, योग अभ्यास से इंसुलिन सेंसिटिविटी बढ़ सकती है और रक्त शर्करा को नियंत्रित करने में मदद कर सकता है।

3. क्या योग शुरू करने से पहले डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए?

हाँ, डायबिटीज के मरीजों को योग अभ्यास शुरू करने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।

4. क्या सभी योगासन डायबिटीज के मरीजों के लिए सुरक्षित हैं?

नहीं, कुछ योगासन और प्राणायाम डायबिटीज के मरीजों के लिए सुरक्षित नहीं हो सकते हैं, इसलिए सही गाइडेंस के लिए डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।

5. क्या योग को नियमित रूप से करना चाहिए?

हाँ, योग को नियमित रूप से करना अधिक लाभकारी है। इससे सेंसिटिविटी बढ़ती है और डायबिटीज को कंट्रोल में रखने में मदद मिलती है।

6. योग से कितने समय बाद रक्त शर्करा में सुधार हो सकता है?

योग का अभ्यास करने के बाद ही सही तरीके से डायबिटीज कंट्रोल में सुधार हो सकता है, लेकिन इसमें समय लग सकता है।

7. क्या योग के अलावा कुछ और करना चाहिए?

हाँ, सही आहार, व्यायाम, और अन्य चिकित्सा उपायों को योग के साथ मिलाकर अधिक लाभ हो सकता है।

8. योग का अभ्यास कितने दिनों तक करना चाहिए?

योग का अभ्यास नियमित रूप से करना चाहिए, और इसे जीवनभर अपनाना चाहिए, डायबिटीज को संभालने के लिए।

9. क्या प्राकृतिक उपाय भी सहायक हो सकते हैं?

हाँ, प्राकृतिक उपायों जैसे कि ताजगी से भरा वातावरण, सुनहरे परिवार के साथ समय बिताना डायबिटीज प्रबंधन में सहायक हो सकता है।

10. क्या योग से डायबिटीज को पूर्णतः ठीक किया जा सकता है?

योग एक सहायक उपाय है, लेकिन इससे डायबिटीज को पूर्णतः ठीक करना संभावना नहीं है। सही चिकित्सा उपायों के साथ मिलाकर डायबिटीज को कंट्रोल किया जा सकता है।

Best yoga poses for DiabetesBest yoga poses for DiabetesBest yoga poses for DiabetesBest yoga poses for DiabetesBest yoga poses for DiabetesBest yoga poses for DiabetesBest yoga poses for Diabetes

2 thoughts on “डायबिटीज के मरीजों के लिए 5 योगासन: इंसुलिन की नहीं पड़ेगी जरूरत|Best yoga poses for Diabetes”

Leave a comment